अगले जनम् बिटिया न कीजो:-By Raghunandan

अगले जनम् बिटिया न कीजो


लाखों पुण्य कमा कर मैं, इस पाक जमीं पर आई थी,
ये कैसी गलती कर दी माँ, ना आने में मेरी भलाई थी..!

क्या इसीलिए सबने आखिर, भ्रूण हत्या बन्द कराई थी,
बाहर भी बेटी मरती है, तो अंदर ही क्या बुराई थी।


जब हर आयाम में इस धरती पर, मानव जन्म विशेष है
तो क्यों धरती पर मानव का, अब मानव बनना शेष है..?

इस भारत-भू की माटी ने दुर्गा सीता बनाई है
फिर कैसे भारत की बेटी, ट्विंकल-आसिफ़ा बन पाई है

है शिक्षित जागरूक भारत तो, ये अपराध क्यों बढ़ते जाते है,
उपलब्धि के सिरमौर देश को, क्यों आईना दिखाते है.?

जहाँ नारी पूजी जाती है, गर बसते हैं वहाँ देवता..
तो क्यों देवियों के हत्यारों को रचते है फिर देवता...?

सदियों तक बस ऐसे ही, यें घर उजाड़े जाएंगे.
जब तक इनके गंदे तन में, ना डण्डे गाड़े जाएंगे..

सदियों तक ऐसे ही इनकी नस्लें सींची जाएगी।
जब तक इनकी देह से, ना आंते खींची जाएगी

गर देना ही है दाता तो, मुझको बस इतना वर दीजो,
चाहे पशु बना देना पर, "अगले जनम बिटिया 'न' कीजो"....💐😢

Thank you.....

-By Raghunandan

FOLLOW ON INSTAGRAM:-Raghunandan

Comments

Free Now