कभी सोच देखो तो:-Monika Jauhari

 कभी सोच देखो तो

कभी सोचा है,
मन को टुकड़ों में बाँट कर भी
कुछ पाने का ऐलान
किया जा सकता है !
ज़िंदगी को कतरा- कतरा पाकर भी,
जिया जा सकता है ।
शब्दों को बेबात ही जोड़ कर भी
अर्थ निकाला जा सकता है।
बातों को बिना पढ़े भी,
किताबों में जड़ा जा सकता है !
कभी सोचा है, तुमने ये सब ?
कभी सोच कर ,देखो तो !

By Monika Jauhari

FOLLOW ON INSTAGRAM:-MONIKA JAUHARI

टिप्पणियां

Click On Beloww for RS.444

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

India Rejects LIC IPO LIC Strike

World Water Day 22, March. #waterday #worldwaterday #water

Scam 1992: The Harshad Mehta Story// Indian Story