देव मनुज तो बनना होगा By स्व श्री जगदीश चंद्र पाटनी || देव मनुज तो बनना होगा | NIVEDITA PATNI || Hindi Kavita #writers

 देव मनुज तो बनना होगा


राष्ट्र महान नहीं होता है

संसद के कानूनों से,

राष्ट्र महान होता है केवल

सच्चरित्र इंसानों से!


पुण्यात्मा क्या होती पैदा,

कभी कहीं कानूनों से,

वह केवल पैदा होती है

नैतिकता और शुचिता से!


जो सत्य छुपे हैं शास्त्रों में ,

उपनिषदों और पुराणों में 

उनको निकाल बाहर आज, 

सर्वत्र बिखेर देना होगा!

देव मनुज तो बनना होगा!


आध्यात्मिकता प्लावित कर दो,

भारत की सीमा के बाहर,

द्वैतद्वैत वैष्णव शैव को,

धार्मिक सूत्राबध कर दो!


हमें जरूरत उस शिक्षा की,

जहाँ ब्रम्हचर्य हो, श्रद्धा हो,

वैज्ञानिकता, गुरुकुल हो, 

पतित उठें नारी जागृत हों!


भारत महिमा-मंडित होगा,

यदि जागृत हो सारे जन,

प्रबुद्धता व्यापित होगी,

सिंह समान गरजेन्गे हम!


संसार निहारता है हमको,

अविचल आग्रह पूर्ण दृष्टि से!

धर्म रूप रत्नों की आशा,

भारत रूपी रत्नाकर से!


पशु मानव को देव मनुज अब,

निश्चित बनना ही होगा!

जय होगी शांति की,

नहीं युद्ध की,

यक्ष प्रश्न यह मिटाना होगा!

देव मनुज तो बनना होगा!


कवि- स्व श्री जगदीश चंद्र पाटनी 'अबोध '


Follow on Instagram :- Nivedita Patni

Comments

Post a Comment

Free Now