क्यों न हम एक ऐसे मनुष्य बने By दिशा जैन || प्रकृति और मनुष्य के बीच बहुत || मानव का विकास || हिन्दू धर्म के दलित ||Hindi Kavita#writers




 क्यों न हम एक  ऐसे मनुष्य बने


 क्यों न हम एक  ऐसे मनुष्य बने , 

जो दूसरो के लिए प्रेरणा का स्त्रोत बने ।


क्यों न हम एक ऐसे मनुष्य बने , 

जो दूसरो के लिए ईमानदार व्यक्तित्व का उदाहरण बने ।


क्यों न हम एक एसे मनुष्य बने ,

जो दूसरो के लिए मदद और परोपकार का उदाहरण बने ।


क्यों न हम एक ऐसे मनुष्य बने ,

जो दूसरो के लिए दयालु और उदारता का उदाहरण बने ।


धन्यवाद  !!

By -दिशा जैन (आगरा )

Follow on Instagram:-दिशा जैन

Comments

Free Now